मैं....






हंसी तो जिल्द है मेरे उदास चेहरे की..


ना होती ये तो लोग जाने क्या समझ लेते..

Comments

  1. खुबसूरत अभिवयक्ति.....

    ReplyDelete

Post a Comment

Popular posts from this blog

मोहब्बत सिर्फ नशा नहीं...तिलिस्म है...

दर्द जब हद गुज़र जाए तो क्या होता है...

अनजाना राही